Monthly Archives: October 2015

शनि

सौर मंडल

शनि (कासीनी से ली गयी तस्वीर)

शनि सूर्य से छंठा ग्रह है और बृहस्पति के बाद सबसे बड़ा ग्रह है।

कक्षा : 1,429,400,00 किमी (9.54 AU) सूर्य से

व्यास: 120,536किमी (विषुवत वृत्त पर)

द्रव्यमान: 5.68e26 किग्रा

रोमन मिथको के अनुसार शनि कृषि का देवता है। शनि से जुड़ा ग्रीक देवता क्रोनस युरेनस तथा गैया का बेटा तथा जीयस का पिता है। शनि से शनिवार बना है।  बेबीलोन के देवता नीनुरता तथा हिन्दू देवता शनि भी शनि ग्रह से जुड़े है।

शनि प्रागऐतिहासिक काल से ज्ञात ग्रह है। गैलीलीयो ने इसे दूरबीन से पहली बार 1610 मे देखा था। उन्होने शनि के विचित्र आकार को देखा था और मजाक मे कहा था कि शायद शनि के दो कान भी है। बाद मे यह पता चला था कि शनि का यह विचित्र आकार उसके वलयो के कारण है।

शनि के शुरुवाती निरिक्षण उस समय जटिल हो गये थे जब शनि के चित्र उसके आकार को भिन्न समय…

View original post 1,288 more words

Advertisements