श्रीकृष्ण चरित्र

katyayani.purnimakatyayan

श्रीकृष्ण चरित्र

प्रिय मित्रों, कल और परसों भगवान श्रीकृष्ण का जन्म महोत्सव हम सब मनाएँगे | कहीं लोग व्रत उपवास आदि का पालन करेंगे, कहीं भगवान कृष्ण की लीलाओं को प्रदर्शित करती आकर्षक झाँकियाँ सजाई जाएँगी तो कहीं भगवान की लीलाओं का मंचन किया जाएगा और कहीं मटकी फोड़ी जाएँगी | मन्दिरों में तो पिछले कई दिनों से सजावट का कार्य चल रहा है | बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिन | वास्तव में श्रीकृष्ण का व्यक्तित्व भारतीय इतिहास के लिये ही नहीं, विश्व इतिहास के लिये भी अलौकिक एवम् आकर्षक व्यक्तित्व है और सदा रहेगा | उन्होंने विश्व के मानव मात्र के कल्याण के लिये अपने जन्म से लेकर निर्वाण पर्यन्त अपनी सरस एवं मोहक लीलाओं तथा परम पावन उपदेशों से अन्तः एवं बाह्य दृष्टि द्वारा जो अमूल्य शिक्षण दिया था वह किसी वाणी अथवा लेखनी की वर्णनीय शक्ति एवं मन की कल्पना की…

View original post 2,927 more words

Advertisements