पद घूंघरू बांध–(प्रवचन–18) — Osho Satsang. ओशो सत्‍संग

जीवन का रहस्य—मृत्यु में—(प्रवचन—अठारहवां) प्रश्न—सार: 1—मैं असहाय हूं, मैं बेबस हूं! मैं क्या करूं? 2—मंसूर और सरमद के अफसाने पुराने हो गए। 3—ऐ रजनीश! मेरे लिए किस्सा नया तजवीज कर। क्या मेरी प्रार्थना सुनी जाएगी? 4—सुना है कि जिंदगी चार दिनों की होती है और मिलन पांचवें दिन होता है। तो क्या करूं? 5—परमात्मा कहां […]

via पद घूंघरू बांध–(प्रवचन–18) — Osho Satsang. ओशो सत्‍संग

Advertisements