क्या पृथ्वी का भविष्य शुक्र जैसे भयावह होगा ?

विज्ञान विश्व

आकार में एक जैसे और अक्सर जुड़वां कहे जाने वाले ग्रह पृथ्वी और शुक्र ग्रह का मूल एक ही हैं, लेकिन बाद में दोनों का विकास एकदम अलग हुआ है। इसमे एक ग्रह एक शुष्क और उष्ण है तो दूसरा नम और जीवन से भरपूर। इसका उत्तर इन ग्रहों की सूरज से दूरी में छुपा है। हालांकि दोनों ग्रह खगोलिय पैमाने पर एक पर समीप हैं, धरती सूरज से 15 करोड़ किलोमीटर दूर है और शुक्र 10.8 करोड़ किलोमीटर।

12,000 किलोमीटर की दूरी पर शुक्र का व्यास धरती के व्यास का 95 प्रतिशत है। वह धरती और बुध ग्रह के बीच सूरज के चक्कर लगाता है। बुध सूरज का सबसे करीबी ग्रह है.। जहां तक दोनों के बीच अंतर का सवाल है तो शुक्र की सतह पर पानी नहीं है और उसका वातावरण बहुत घना और जहरीला है, जो लगभग पूरी तरह कार्बन डाय ऑक्साइड से बना है। सतह पर औसत तापमान…

View original post 570 more words

Advertisements