भविष्य की ऊर्जा : नाभिकिय संलयन(nuclear fusion) से पूरी होगी ऊर्जा की आवश्यकतायें

विज्ञान विश्व

मानव को विकास चाहिए। विकास के लिए आवश्यक है ऊर्जा। ऊर्जा हमें ईंधन से मिलती है। आज दुनिया में कई तरह के ईंधन काम में लाए जा रहे हैं। सबसे ज़्यादा जिनका इस्तेमाल हो रहा है वो है कोयला और तेल। दोनों ईंधन ज़मीन के अंदर से निकालकर इस्तेमाल किए जा रहे हैं। मगर समस्या ये है कि दोनों का भंडार सीमित है। एक समय ऐसा आएगा जब दोनों ख़त्म हो जाएंगे। साथ ही दोनों से प्रदूषण बहुत होता है। इसीलिए तमाम देश परमाण्विक ईंधन पर भी ज़ोर दे रहे हैं। मगर परमाण्विक विद्युत संयत्र लगाना बेहद महंगा है। दूसरे इसके सह-उत्पाद के तौर पर निकलने वाले रेडियो सक्रिय कचरे को ठिकाने लगाना भी बड़ी चुनौती है।

इसीलिए काफ़ी दिनों से वैज्ञानिक एक ऐसे ईंधन की तलाश कर रहे हैं। जिससे पर्यावरण को भी नुक़सान न हो और उसका कोई खतरनाक सह-उत्पाद भी न हो। कुछ लोगों को ये तलाश…

View original post 3,047 more words

Advertisements