श्रावस्‍ती में बुद्ध को कुलकन्‍या के विवाह में निमंत्रण—(कथा—85)

aao satsang ka aanad uthaye,,,